Loading…

Temple Grandin:
विश्व को हर तरह के दिमाग की आवश्यकता है

TED2010 · 19:43 · Filmed Feb 2010
Watch next...
Jill Bolte Taylor: My stroke of insight
arrow
3,783,749 Total views

टेम्पल ग्रैन्डिन, जो कि बचपन से औटिस्म से ग्रस्त है, अपनए दिमाग की कार्यशैली के बारे मे चर्चा कर रही हैं —वह बता रही हैं कि कैसे उनकी "तस्वीरो मे सोचने की क्षमता" ने उन्हे उन समस्याओ का समाधान ढूढ़ने मे मदद दी जिन्हे अक्सर बाकि Neurotypical(वे जिन्हे औटिस्म नही है) दिमाग नही देख पाते हैं । वे कह्ती है कि दुनिया को औटिस्म स्पेक्ट्र्म से सोचने वाले व्यक्तियों की भी ज़रूरत है : दृश्य विचारकों, पैटर्न विचारकों, मौखिक विचारकों, और स्मार्ट और तेज़ बच्चों को सभी प्रकार की।

Livestock handling designer, autism activist
Through groundbreaking research and the lens of her own autism, Temple Grandin brings startling insight into two worlds. Full bio
This talk was presented at an official TED conference, and was featured by our editors on the home page.

Discuss

374 comments

Enthusiastically agree? Respectfully beg to differ? Have your say here.

2000 characters remaining
Don't have an account? Sign up now — it's fast and free.
Sort comments by
There are currently no comments for this talk.