Return to the talk Return to talk

Transcript

Select language

Translated by Rajneesh Pandey
Reviewed by Omprakash Bisen

0:11 मार्को टेम्पेस्ट: मैं आज आपको जो दिखाना चाहता हूँ वह एक प्रकार का प्रयोग है | आज यह पहली बार दिखाया जायेगा | यह अग्युमेंटेड रेआलिटी तकनीक का प्रदर्शन है | जो द्रश्य आप देखने वाले हो वो पहले से रिकॉर्ड किये हुए नहीं है | उसका सीधा प्रसारण होगा और मेरे सांथ सीधे प्रतिक्रिया करेंगे | मैं इसे एक तरह का तकनीकी जादू समझता हूँ | तो आशा है सब अच्छा हो | और आप इस बड़े परदे की ओर नजर रखिये |

0:40 अग्युमेंटेड रेआलिटी असली दुनिया का कंप्यूटर द्वारा बनाये काल्पनिक दुनिया से संगठन है | जादू की विवेचना का यह सबसे अच्छा माध्यम है और यह पूछने का कि क्यों इस तकनीकी युग में भी जादू लगातार हमें आश्चर्यचकित करता रहता है | जादू धोखा है, पर इस धोखे को ही हम पसंद करते हैं | धोखे का आनंद लेने के लिए सबसे पहले एक दर्शक को अपने अविश्वास को छोड़ना होगा | कवि सम्यूअल टेलर कोलरिग ने पहली बार मन के ग्रहण करने की इस अवस्था के बारे में कहा था |

1:18 सम्यूअल टेलर कोलरिग: मैं अपनी रचनाओं में सत्य की एक झलक दिखलाने की कोशिश करता हूँ इस कल्पना की अभिव्यक्ति के लिए कुछ समय के लिए अपने अविश्वास को अपनी इच्छा से छोड़ना ही कविता में विश्वास लेकर आता है |

1:32 किसी भी प्रकार के नाटकीय अनुभव के लिए कल्पना पर विश्वास होना बहुत जरुरी है | इसके बिना एक आलेख केवल शब्द हैं | अग्युमेंटेड रेआलिटी एक बहुत ही नयी तकनीक है | और हाथ की सफाई निपुणता की एक कलात्मक अभिव्यक्ति है | हम सभी अपने अविश्वास में समर्पित होने में बहुत अछे हैं | हम इसे प्रतिदिन करते हैं , उपन्यास पढ़ते समय , टीवी देखते समय या फिल्म देखते समय | हम ख़ुशी से कल्पना की दुनिया में जाते हैं जहाँ अपने नायकों की जयकार करते हैं और उन दोस्तों के लिए रोते हैं जो कभी हमारे दोस्त ही नहीं थे | इस योग्यता के बिना कोई जादू संभव नहीं है |

2:13 जेंन रोबेर्ट हौडिंग फ्रांस के महान जादूगर ने सबसे पहले जादूगर की भूमिका एक कहानीकार के रूप में पहचानी थी | उन्होंने जो कहा था उसे मैंने अपने स्टूडियो की दीवाल पर लिखा है |

2:24 जेंन रोबेर्ट हौडिंग: जादूगर एक कलाबाजी करने वाला व्यक्ति नहीं है | वो एक अभिनेता है जो कि एक जादूगर की भूमिका अदा करता है |

2:30 इसका मतलब यह है कि जादू एक थिएटर है और हर एक हाँथ की सफाई एक कहानी है | जादू की कलाएं मूल रूप से काल्पनिक कहानियों की ही तरह हैं | इसमे पाने और खोने की कहानियां हैं मृत्यु और पुनर्जन्म की कहानियां हैं और कठिनाइयाँ है जिसे पार करना जरुरी है | कुछ कहानियां बहुत ही ज्यादा नाटकीय हैं | जादूगर आग और लोहे से खेलते हैं , आरी के तेज धार का सामना करना बन्दूक की गोलियों को रोकने का साहस करना या जानलेवा तरीके से बच कर निकलने का प्रयास करते हैं | पर दर्शक जादूगर को मरते हुए देखने के लिए नहीं आते , वो उसे जीवित रहे ये देखने आते हैं | क्योंकि अच्छी कहानियों का हमेशा सुखद अंत होता है |

3:13 जादू की कलाओं की एक विशेष बात यह है कि इसकी कहानियों में एक मोड़ होता है | एडवर्ड दे बोनो का कहना था की हमारा दिमाग प्रतिरूप बनाने की एक मशीन है उनका कहना था कि जादूगर जान बूझ कर जिस तरह दर्शक सोचते हैं उसका फायदा उठाते हैं |

3:30 एडवर्ड दे बोनो : जादू लगभग पूरी तरह से छणिक त्रुटी पर निर्भर करता है | दर्शकों को ऐसी कल्पना या विस्तार में बातें बताई जाती हैं जो कि पूरी तरह से उचित है, परन्तु जो उनके सामने किया जा रहा है वास्तव में वो उससे मेल नहीं खाते |

3:43 इसलिए जादू के खेल एक चुटकुले की तरह हैं | चुटकुले हमें एक अपेक्षित स्थान के रास्ते पर लेकर जाते हैं | पर अचानक जैसे ही जो हमने सोचा था वो पूरी तरह से अप्रत्याशित द्रश्य में बदल जाता है, तब हम हँसते है | जब लोग जादू के खेल देखते हैं तब भी बिलकुल ऐसा ही होता है | अंत तर्क को गलत सिद्ध कर देता है, समस्या को एक नया नजरिया देता है और दर्शक हंसी के सांथ आश्चर्य प्रकट करते हैं | बेवकूफ बनने में भी एक मजा है |

4:17 सभी कहानियों की एक विशेषता यह है कि वो लोगों के सांथ बांटने के लिए बनी होती हैं | हम उसे लोगों को सुनाने के लिए मजबूर महसूस करते हैं | जब मैं किसी पार्टी में जादू करता हूँ -- (हंसी) तो वो आदमी तुरंत पर अपने दोस्त को खींच कर लाता है और मुझसे फिर से करने का आग्रह करता है | वो इस अनुभव को बाँटना चाहते हैं | यह मेरा काम और मुश्किल कर देता है, क्योंकि, अगर मैं उन्हें हैरान करना चाहता हूँ , तो मुझे एक ऐसी कहानी सुनानी होगी जिसकी शुरवात तो वैसी ही हो पर अंत अलग होना चाहिए -- एक जादू की कहानी जिसके मोड़ पर एक मोड़ आ जाये | यह मुझे व्यस्त रखता है |

4:48 विशेषज्ञों का मानना ​​है कि कहानियां हमारी क्षमता के परे जाकर हमारा मनोरंजन करती हैं | हम कहानी की संरचना में सोचते हैं | हम घटनाओं और भावनाओं से जुड़ते हैं और उसे स्वाभाविक रूप से ऐसे द्रश्यों में परिवर्तित कर देते हैं जिसे आसानी से समझा जा सकता है | यह एक एक विशिष्ट मानव उपलब्धि है | हमें सभी अपनी कहानियां सुनाना चाहते हैं , चाहे वह पार्टी में देखा गया जादू हो, ऑफिस का एक बुरा दिन हो , या छुट्टियों में देखी गई एक खुबसूरत शाम हो |

5:18 आज, हम तकनिकी के आभारी हैं जिससे, हम उन कहानियों को वैसे सुना सकते हैं जैसा पहले ना था ईमेल से ,फेसबुक से , ब्लॉग ,ट्वीट, TED (टेड) पर | सोसल नेटवर्किंग के ये उपकरण एक डिजिटल कैम्प फ़ायर की तरह हैं जिसके घेरे में दर्शक कहानियां सुनने एकत्रित होते हैं | हम तथ्यों को अलंकार और मुस्कान में बदलते हैं और कल्पनाओं में भी बदलते हैं | हम हमारे जीवन के ख़राब समय को अच्छा करते हैं ताकि जीवन पूरा लगे | हमारी कहानियां हमें वह इन्सान बनाती हैं जो हम हैं और कभी कभी जैसा इन्सान हम बनना चाहते हैं | वो हमें हमारी पहचान देती हैं और समुदाय की भावना बनाती हैं | और अगर कहानी अच्छी हो तो, वह शायद हमारे चहरे पर मुस्कान भी ले आये |

6:09 धन्यवाद |

6:11 (अभिवादन)

6:15 धन्यवाद |

6:17 (अभिवादन)